Positive News #18 : Corona Pandemic के बीच ये खबरें आप जान लीजिए || Corona News Update ||

नमस्कार, आपका बोहोत बोहोत स्वागत है, समाचार लाइव हिंदी के “पॉजिटिव न्यूज़ ऑफ़ दा वीक” सेक्शन में. नेगेटिव ख़बरों से दूर हर हफ्ते के हर शनिवार हम आपको हफ्ते की पॉजिटिव न्यूज़ देते हैं, जो आपके लिए जाननी बेहद जरूरी होती है. यह वीडियो पूरी देखिएगा, क्यूंकि आज हम आपको कई पॉजिटिव न्यूज़ इस एक वीडियो में बताएंगे.

चलिए शुरू करते हैं पहली पॉजिटिव न्यूज़ के साथ

केंद्र सरकार ने इस हफ्ते एक बड़ा फैसला करते हुए अब 18 साल से ऊपर के प्रत्येक नागरिक को 1 मई से वैक्सीन लगवाने की अनुमति दे दी है. इसको आप एक तरह से vaccination drive का तीसरा फेज कह सकते हैं. पहले फेज में 3 करोड़ हेल्थ वर्कर्स और फ्रंट लाइन वर्कर्स को वैक्सीन लगाई गई थी. जिसके बाद दूसरे फेज़ में 45 बरस से ऊपर के लोगों को vaccination प्रोसेस का हिस्सा बनाया गया और अब तीसरे फेज में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन लग सकेगी. इसके लिए 28 अप्रैल से कोविन प्लेटफार्म और आरोग्य सेतु एप पर रजिस्ट्रेशन की शुरुआत होगी।

अब बताते हैं, कैसे आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा.

– कोविन पोर्टल या आरोग्य सेतु एप पर जाकर रजिस्ट्रेशन आप कर सकते हैं. इसमें सबसे पहले आपको मोबाइल नंबर और आधार नंबर डालना होगा. जिसके बाद 10 अंकों का ओटीपी मिलेगा। OTP डालने के बाद आपको वेरीफाई करना होगा. वेरीफाई होने के बाद आपको कुछ और डिटेल भेजनी होगी, जैसे आपके आस पास कहां कहां टीका लग सकता है, आप किस जगह टीका लगवाना चाहते हो. इसके बाद आपको शेडूल भी बताना होगा कि किस वक़्त टीका लगवाना है. यह सब जानकारी दर्ज करने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।

बोहोत ही आसान तरीका है. 28 अप्रैल से वैक्सीन लगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन करें और इस महामारी से लड़ने के लिए एक और कदम आगे बढ़ें. इसके साथ साथ हम आपको वैक्सीन से जुड़ी एक और पॉजिटिव न्यूज़ दे दें कि जो दो वैक्सीन इस वक़्त दी जा रही हैं, उसपर इस हफ्ते कुछ आंकड़े आए थे. उन आंकड़ों के अनुसार, जो लोग वैक्सीन लगवा रहे हैं. उनमें ना के बराबर लोगों को ही संक्रमण हो रहा है.

कोरोना की दो वैक्सीन covidshield और covaccine लगवाने के बाद हर `10 हजार लोगों में मात्र 2 -3 लोगों में ही संक्रमण की शिकायत आ रही है. इसलिए वैक्सीन से कोई डरने की जरूरत नहीं है. वैक्सीन पूरी तरह सेफ है. बेकार के डिजिटल न्यूज़ पोर्टल की बातों में ना आएं और vaccination drive का हिस्सा बनें और vaccine जरूर लगवाएं. क्यूंकि, कुछ डिजिटल डिजिटल पोर्टल का काम सिर्फ बरगलाना है. जब वैक्सीन नहीं थी तो बोले, वैक्सीन क्यूँ नहीं आई. जब वैक्सीन आई तो बोले, वैक्सीन कारगर नहीं है. उनके विशेष सूत्रों ने बताया है. हम भी जानते हैं, कौन से विशेष सूत्र हैं जो इनको सिर्फ माहौल खराब करने वाली खबरें देते हैं. अब वैक्सीन ड्राइव चल रही है, तो इनका कहना है कि वैक्सीन की कमी पड़ गई है. सरकार ने सारी डोज़ विदेश पहुंचा दी. जब सरकार ने बोलै, वैक्सीन में कोई कमी नहीं है तो अब बोल रहे हैं कि वैक्सीन कम नहीं है, अब ऑक्सीजन की कमी है. इसलिए अब हम आपको ऑक्सीजन को लेकर अगली पॉजिटिव खबर बताते हैं.

दरअसल, देश में ऑक्सीजन की कमी नहीं है, बावजूद समय पर आपूर्ति करने के सरकार ने जर्मनी से 23 मोबाइल ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट (Mobile Oxygen Generation Plant) एयरलिफ्ट करने का फैसला किया है.

रक्षा मंत्रालय के मुख्य प्रवक्ता ए भारत भूषण बाबू ने बताया कि प्रत्येक मोबाइल प्लांट की क्षमता 40 लीटर ऑक्सीजन प्रति मिनट और 2400 लीटर ऑक्सीजन प्रति घंटा उत्पादन करने की है.

इन ऑक्सीजन प्लांट के हफ्ते में भारत पहुंचने की उम्मीद है. कागजी कार्रवाई चल रही है और भारतीय वायु सेना को जर्मनी से प्लांट लाने के लिए विमान को तैयार रखने को कहा गया है.

त्रिभुवन शर्मा ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के हिंदी अख़बार "सांध्य टाइम्स" के साथ साल 2013 में की थी. 4 साल अख़बार में हार्डकोर जर्नलिज्म को वक़्त देने के बाद उन्होंने Nightbulb.in को 2018 में लॉन्च किया

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer