एडवेंचर के साथ-साथ रोमांटिक स्पॉट है “जंगल बब्बल”

“जंगल बब्बल” में आपका स्वागत है. ये वो जंगल है जहां आप पूरी तरह सुरक्षित हैं. इस जंगल में आप जंगली जानवरों से घिरे हुए होंगे लेकिन आपकी जान पूरी तरह सुरक्षित होगी। जानना चाहते हैं आखिर क्या है ये जंगल बब्बल ? तो पढ़ें पूरी खबर.

टूरिस्ट खींचने के लिए दुनिया के सभी देश हर तरह के प्रयास करते हैं. जैसे हाल ही में इंडिया में दुनिया की सबसे विशाल स्टेचू ऑफ़ यूनिटी को बनाया गया है. कुछ ऐसे ही थाईलैंड में दुनिया का सबसे पहला जंगल की ज़िन्दगी को जीने के लिए एक टूरिस्ट स्पॉट तैयार किया गया है. इस टूरिस्ट स्पॉट का नाम “जंगल बब्बल” है, जो दुनिया में तेजी से मशहूर भी हो रहा है. यह टूरिस्ट स्पॉट आपको एक अलग ही अनुभव महसूस कराएगा।

  • जंगल बब्बल ही नाम क्यूं है : जंगल के अंदर गुब्बारे की शक्ल में होटल का निर्माण किया गया है, जो पूरी तरह शीशे का बना हैं. इन शीशों की दीवारों से आप जंगल की दुनिया को तो काफी करीब से जान ही पाएंगे साथ ही आपको सारी सुविधाएं भी मिलेंगी. यह जंगल बब्बल पूरी तरह लक्ज़री है. पूरी तरह एयर कंडीशन सुविधा के साथ-साथ इसमें किंग साइज बेड, हेयर ड्रायर, मेकअप मिरर और बैठने के लिए भी पूरी सुविधा दी गई है. नहाने के लिए नॉन ट्रांसपेरेंट गिलास से बना बाथरूम भी है.

 

  • दिन में थाई हाथी और रात में टिमटिम तारे : पूरी तरह से शीशे के बने इस रूम में आपको दिन भर थाईलैंड के मशहूर हाथी दिखाई देंगे, साथ ही रात में बिस्तर में लेटते वक़्त आसमान में चमकते तारों का भी नजारा आप ले पाएंगे।

  • दो व्यक्ति के लिए ख़ास बनाया गया है जंगल बब्बल : 2 की बात होती है तो जहन में कपल ही दिखाई देते हैं. हालांकि ऐसा जरुरी नहीं होता, लेकिन जंगल बब्बल कपल्स के लिए एक एडवेंचर्स होने के साथ-साथ रोमांटिक स्पॉट भी है, जहां उन्हें एक साथ अकेले में वक़्त बिताने का मौका भी मिलता है.

  • वन टाइम एक्सपीरियंस जगह है : Anantara Golden Triangle Elephant Camp & Resort नाम के इस रिसोर्ट में इस एडवेंचर स्पॉट को बनाकर तैयार किया है. अगर आप थाईलैंड जाते हैं तो रिसोर्ट से यहाँ रात बिताने के लिए बुकिंग कर सकते हैं. इसका एक रात का खर्च मात्र 40,000 रुपए है, जिसमें आपको 24 घंटे रहने के सुविधा के साथ साथ ब्रेकफास्ट, लंच, डिनर, टी-कॉफ़ी मेकर, फुल स्टॉक बार भी मिलता है.

 

Image & Content source : www.dailymail.co.uk

त्रिभुवन शर्मा ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के हिंदी अख़बार "सांध्य टाइम्स" के साथ साल 2013 में की थी. 4 साल अख़बार में हार्डकोर जर्नलिज्म को वक़्त देने के बाद उन्होंने Nightbulb.in को 2018 में लॉन्च किया

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer