वो बिल्डिंग जो बादलों में छुप जाएगी

जी हां, आप बिलकुल सही पढ़ रहे हैं. लेकिन अभी तक जिसे लोग जानते हैं उसकी बात तो हम बिलकुल नहीं कर रहे हैं. इस वक़्त दुनिया की सबसे बड़ी इमारत बुर्ज खलीफा है. लेकिन हम उस इमारत के बारे में आपको बता रहे हैं, जो बादलों में छुप जाएगी. यह बिल्डिंग आने वाले समय में टूरिज्म का एक बेहतरीन केंद्र बन जाएगी.

चलिए, जानते हैं कौनसी है ये बिल्डिंग

इस बिल्डिंग को सऊदी अरब के जेहाद में तैयार किया जा रहा है. यह बिल्डिंग जमीन से करीब एक किलोमीटर होगी। यानी करीब करीब इस बिल्डिंग की लंबाई 3300 फीट होगी। मौजूदा वक़्त में बुर्ज खलीफा सबसे बड़ी बिल्डिंग है, जिसकी कुल लंबाई 2270 फीट है इस बिल्डिंग का नाम किंगडम टावर रखा गया है. ये बिल्डिंग यूरोप की सबसे ऊंची बिल्डिंग शार्ड से चार गुना बड़ी होगी. किंगडम टावर का फैलाव करीबन 5 लाख वर्ग मीटर क्षेत्र में होगा। 

यह होंगी सुविधाएं

  1. इस गगनचुम्बी बिल्डिंग में ऑफिस, होटल, रेस्टुरेंट जैसी सुविधाएं होंगी।
  2. इस बिल्डिंग में 59 लिफ्ट होंगी, जो 10 मीटर प्रति सेकंड की रफ़्तार से चलेंगी. यानी आप इस बिल्डिंग के 158वे माले पर मात्र 66.5 में पहुंच जाएंगे.
  3. यह बिल्डिंग आसमान की तरफ जाते जाते पतली होती जाएगी।
  4. इस बिल्डिंग को टूरिज्म को ध्यान में रखकर भी तैयार किया जा रहा है.
  5. इस बिल्डिंग को बनाने की कुल कीमत 8,000 करोड़ रुपए लगाई जा रही है.
  6. बिल्डिंग बनाने का लक्ष्य 2020 रखा गया है. इस बिल्डिंग को बनाने की खबर 2011 में आई थी और इसी साल से इस बिल्डिंग को बनाने की तैय्यारियां शुरू हो गईं थीं.

 

 

Image Source : www.google.com

त्रिभुवन शर्मा ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के हिंदी अख़बार "सांध्य टाइम्स" के साथ साल 2013 में की थी. 4 साल अख़बार में हार्डकोर जर्नलिज्म को वक़्त देने के बाद उन्होंने Nightbulb.in को 2018 में लॉन्च किया

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer