यहां जानें भूलने की बीमारी से बचने के घरेलू उपाय

इन दिनों याददाश्त खराब होना या भूलने की बीमारी होना आम हो चुका है. मेट्रो सिटी में रहने वालों के लिए ऑफिस का काम भूलने पर बॉस की डांट पड़ना और घर जाते हुए घरेलू सामान ना लेना पर ताने सुनना दिनचर्या का हिस्सा बनता जा रहा है. इसके पीछे तनाव एक प्रमुख कारण बताया जाता है. ऐसे में अपनी याददाश्त को बनाए रखने के लिए बादाम खाने जैसे घरेलू नुस्खे से लेकर आम लोग अब एलोपैथी तक इस्तेमाल करने लगे हैं. आज हम इस खबर से बताएंगे कि कैसे आप अपनी स्मरण शक्ति को ठीक कर सकते हैं.

  • दिमाग को दें आराम : आयुर्वेद के मुताबिक दिमाग को लगातार इस्तेमाल करने से जो थकान महसूस होती है, उससे याददाश्त कमजोर होती है. ऑफिस में 8 घंटे तक लगातार काम करने की बजाय हमें 2 घंटे में कम से कम पांच से दस मिनट तक दिमाग को आराम देना चाहिए। यह आराम आपके दिमाग के लिए फायदेमंद होता है, जिसे इंग्लिश में “पावर मैप” कहते हैं.

 

  • याददाश्त के लिए योग भी करें : शरीर का प्रमुख हिस्सा दिमाग होता है, लेकिन हम दिमाग की एक्सरसाइज नहीं करते, बल्कि बॉडी बनाने के लिए 1 घंटा जिम में लगा देते हैं. दिमाग की एक्सरसाइज के लिए रोजाना सुबह योग करना चाहिए। स्मरण शक्ति के लिए योगासन में शीर्षासन, धनुरासन, मतस्यासन, मयूरासन और हलासन करना चाहिए।

 

  • मैडिटेशन रामबाण है : आप मैडिटेशन के लिए सुबह शांत जगह पर पद्मासन करें और दिमाग को स्थिर करें. मैडिटेशन के लिए आप सिर्फ धीमे-धीमे सांस लें और उन सांसों पर अपना ध्यान लगाएं। याद रहे आसन करते वक़्त आंख बंद रहनी जरुरी होती हैं.

 

  • यह सब जरूर खाएं : दिमाग को तेज करने के साथ साथ उसको मजबूत बनाना भी जरुरी है. मजबूत से मतलब आपकी याददाश्त से है. इसके लिए आप अखरोट, बादाम, देसी घी, ग्लूकोस, मौसमी फल, साग सब्जी जैसी चीजें जरूर खाएं।

 

  • नींद पूरी लें : जितना सफल जीवन के लिए परिश्रम करना है, दिमाग का सदुपयोग करना है, उतना ही जरुरी दिमाग को शांत रखना भी है. दिमाग के बेहतर इस्तेमाल के लिए समय पर सोना बेहद जरुरी होता है. कम से कम 6 घंटे की नींद जरूर लें, ताकि सुबह आपका दिमाग फ्रेश महसूस कर सके.

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer