आरडी बर्मन ने गवाया था “अपने पापा से गाना”

1972 में शक्ति सामंत की एक फिल्म आई थी ‘अमर प्रेम’। राजेश खन्ना और शर्मिला टैगोर की यह फिल्म सुपर हिट हुई थी। इसकी कहानी मशहूर बांग्ला लेखक बिभूतिभूषण बंदोपाध्याय की कहानी पर आधारित थी और बांग्ला में ही बन चुकी ‘हिंगेर कोचुरी’ का रीमेक थी। इसे हिट करने में इसके संगीतकार आरडी बर्मन के सुमधुर संगीत का बहुत बड़ा हाथ है। इस फिल्म का एक गाना ‘चिंगारी कोई भड़के….’ उस साल के ब्लाक बस्टर गानों की सूची में पहले पांच स्थान में शामिल था। इस फिल्म की एक खासियत और यह भी है कि इसमें आरडी ने अपने मशहूर संगीतकार पिता एसडी बर्मन से भी एक गाना गवाया है।

दरअसल, एसडी बर्मन साहब एक बेहतरीन फॉक सिंगर थे। त्रिपुरा-बंगाल ही नहीं, देश भर के लोक धुनों और लोक गीत के माहिर थे। जिस समय यह फिल्म बन रही थी, उस समय आरडी के मन में यह ख्याल आया कि इसका एक गाना अपने पिता की आवाज में भी रिकॉर्ड करा लें। एसडी की तबियत उन दिनों खराब चल रही थी और वह संगीत से लगभग दूर ही रहने लगे थे। पहले तो एसडी साहब अपनी गिरती सेहत को लेकर राजी नहीं हुए पर बाद में आरडी के मनाने पर राजी हो गए। इस तरह आनंद बख्शी का लिखा गीत ‘डोली में बिठाई के…’ तैयार हो गया। शक्ति सामंत से कहा गया कि यह गाना तैयार हुआ है।

पहले तो शक्ति सामंत ने यह कह दिया कि फिल्म में इस गाने के लिए सिचुएशन ही नहीं है। पर जब गाना सुना तो आरडी से कहा कि कुछ भी हो यह गाना फिल्म में जरूर शामिल किया जाएगा। चाहे इसके लिए मुझे किसी भी तरह से फिल्म में सिचुएशन बनानी पड़े। शक्ति सामंत ने अपना वादा पूरा किया और संगीत प्रेमियों को वह गाना सुनने को मिला और आज भी एसडी बर्मन की आवाज में गाया गया वह गाना बेहद सुरीला लगता है।

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer