नरेंद्र मोदी की तनख्वाह कई छोटे देशों के प्रधानमंत्रियों से भी कम है

भारत कई मामलों में दुनिया के बाकी देशों से काफी आगे है. जीडीपी हो या फिर जनसंख्या, सैन्य शक्ति की बात करें या फिर दुनिया के सबसे अधिक क्षेत्रफल वाले देशों पर ध्यान दें तो आपको पता चलेगा कि भारत दुनिया के टॉप 10 देशों में शामिल है.

लेकिन एक मसले पर भारत का नंबर काफी पीछे आता है और वो है भारत देश का प्रतिनिधि करने वाले प्रधानमंत्री की सैलेरी। जी हां, दुनिया में भले ही हमारी जीडीपी तीसरे, चौथे और पांचवे पायदान पर कूदती रहती हो, लेकिन भारत के प्रधानमंत्री की सैलेरी कई छोटे देशों के प्रतिनिधियों से कम है.

आइए आपको बताते हैं कौन हैं दुनिया के 5 प्रतिनिधि जिनकी सैलेरी सबसे अधिक है.

1. ब्रूनई के सुल्तान

इस देश का नाम आपने कभी नहीं सुना होगा, लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि ब्रूनई के सुल्तान दुनिया में सबसे अधिक सैलेरी पाते हैं. इनकी सैलेरी 1986768000 डॉलर है. यानी लगभग दो अरब डॉलर. यह देश साउथ एशिया में इंडोनेशिया के नजदीक मौजूद है.

2. सिंगापुर के प्रधानमंत्री

दूसरे नंबर पर सिंगापुर के प्रधानमंत्री हैं, सबसे अधिक सैलेरी लेते हैं. इनकी सैलेरी 16,10,000 डॉलर है.

3. हांगकांग के चीफ एग्जीक्यूटिव

हांगकांग में प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति नहीं है. यहाँ चीफ एग्जीक्यूटिव हैं, जो देश को चलाते हैं. हांगकांग के चीफ एग्जीक्यूटिव की तनख्वाह 568000 डॉलर है.

4. स्विट्ज़रलैंड के राष्ट्रपति

काला धन रखने के लिए मशहूर स्विट्ज़ अकाउंट वाले देश राष्ट्रपति चौथे ऐसे प्रतिनिधि हैं, जो सबसे अधिक तनख्वाह पाते हैं. 507000 डॉलर इनकी मासिक तनख्वाह है.

5. अमेरिका के राष्ट्रपति 

जी हाँ, दुनिया के सबसे ताकतवर देश के प्रतिनिधि यानी राष्ट्रपति पांचवे नंबर पर आते हैं. इनकी सैलेरी 4 लाख डॉलर है. इस वक़्त अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प हैं.

भारत के प्रधानमंत्री का नंबर है 80

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दुनिया में 80वां नंबर आते है. भारत प्रधानमंत्री की तनख्वाह 66000 अमेरिकन डॉलर है. अगर इस तनख्वाह को रूपये में समझा जाए तो यह लगभग 4,50,000 होती है.

चीन और पाकिस्तान के प्रतिनिधि का तनख्वाह भी जानिए

आपको जानकर हैरानी होगी कि चीन के प्रधानमंत्री पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से भी कम सैलेरी हासिल करते हैं. जी हाँ, चीन के प्रधानमंत्री की तनख्वाह 13269 डॉलर है, जबकि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की तनख्वाह 13553 डॉलर है.

त्रिभुवन शर्मा ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के हिंदी अख़बार "सांध्य टाइम्स" के साथ साल 2013 में की थी. 4 साल अख़बार में हार्डकोर जर्नलिज्म को वक़्त देने के बाद उन्होंने Nightbulb.in को 2018 में लॉन्च किया

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer