रात में नौकरी (Job) मत कीजिए, वरना आगे भुगतना पड़ेगा

कुछ लोगों का मानना है कि अगर आप रात में काम करते हैं या रात में पढ़ाई करते हैं, तो आपका परफार्मेंस ज्यादा अच्छा होता है. शायद यह वजह भी है कि ज्यादातर यूथ नाइट लाइफ को पसंद कर रहा है. रात के वक्त नौकरी करने के साथ साथ बच्चे भी रात के वक्त पढ़ाई करना बेहतर मानते हैं.

लेकिन यूथ को यह जानना बेहद जरूरी है कि नाइट लाइफ भले ही एक्साइटिड लगती हो, लेकिन इसका हमारे शरीर पर इतना बुरा असर पड़ता है कि आपकी रिटायरमेंट की उम्र भी घट जाती है. वैज्ञानिकों का मानना है कि रात के वक्त जागकर काम करने वाले लोग न सिर्फ दिन में काम करने वालों से अच्छी परफार्मेंस नहीं दे पाते. बल्कि इसी वजह से उन्हें बीमारियां भी लग जाती हैं, जो जल्दी रिटायरमेंट लेने का कारण बनती हैं.

फिनलैंड में 6000 वर्कर्स पर की गई हाल ही में एक रिसर्च की गई है, जिसमें सामने आया है कि भले ही रात के वक्त काम करने वालों की तादाद दिन में काम करने वाले लोगों से दोगुना थी, लेकिन उनके काम करने की क्षमता दिन में काम करने वाले वर्कर्स से कम थी. ऐसा न सिर्फ कंप्यूटर पर काम करने वाले लोगों में देखने को मिलता है, बल्कि उन लोगों पर भी जो मजदूरी करते हैं.

इसलिए रात के वक्त काम करके अपने शरीर को खराब करने की बजाय आप दिन में काम करें. समय पर सोएं और समय पर उठें. इससे आपको जल्दी रिटायरमेंट भी लेनी नहीं होगी. नाइट शिफ्ट करवाने वाले कंपनियां भले ही आपको सैलरी अच्छी देती हों, लेकिन आपके शरीर के लिए नाइट लाइफ नुकसानदायक है, जो आपको बढ़ती उम्र में देखने को मिल सकती है. इसका सबसे बड़ा नुकसान यही होता है कि आपकी काम करने की ताकत कम होने लगती है और आपका शरीर जवाब दे देता है. जिस कारण आप जल्दी नौकरी से हाथ धो बैठते हो या जल्दी रिटायरमेंट ऐज तक पहुंच जाते हो.

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer