” ए फलों की रानी ” तेरे फायदे हैं हजार।

जैसे आम फलों का राजा है, वैसे ही फलों की रानी नारंगी यानी संतरा को कहा जाता है. दरअसल, संतरे में रानी बनने के सभी गुण होते हैं. इसके कई फायदे हैं. जूस बनाने से लेकर इसको छील कर खाने में भी जबरदस्त स्वाद होता है. गर्मियों में ऐसे रसीले फल खाना लाभदायक होता है. ऐसे में हमें यह भी जानना चाहिए कि किस फल से हमें क्या लाभ मिलता है.

आइए आपको बताते हैं, क्यूं संतरा शरीर के लिए उपयोगी होता है.

  • संतरे में फ्रक्टोज़, डेक्स्ट्रोज, खनिज और विटामिन होते हैं, जो शरीर में पहुंचते ही ऊर्जा देना शुरू कर देते हैं.
  • संतरे के अंदर प्रचूर मात्रा में विटामिन सी होता है. इसके अलावा पोटेशियम और आइरन भी होता है, जिसके सेवन से दिल की बीमारियां दूर होती हैं. इसके अलावा दिमाग को तेज करने में भी मदद करता है. इतना ही नहीं, बूढ़े, बच्चे, निर्बल, दुर्बल लोगों को अपनी कमजोरी दूर करने के लिए भी संतरा खाना या इसके जूस पीना चाहिए. तेज बुखार में संतरे का जूस पीने से बुखार कम होता है.
  • टॉयलेट की समस्या के साथ साथ किडनी से जुडी बीमारियां भी दूर होती हैं. इससे टॉयलेट भी साफ़ होता है.

बच्चों के लिए ख़ास है संतरा

  • छोटे बच्चों को स्वस्थ बनाये रखने के लिए दूध में एक चौथाई हिस्सा संतरे का रस मिलाकर पिलाना चाहिए. यह उनके लिए एक टॉनिक की तरह काम करता है. इससे बच्चों में एनर्जी के अलावा न्य उत्साह बढ़ता है.
  • दांत निकलते समय बच्चों को उलटी और दस्त होते हैं. ऐसे में संतरा उनकी बेचैनी दूर करता है. दांतों और मसूड़ों के लिए संतरा का सेवन बेहद लाभकारी होता है.

यहां भी ध्यान रखता है संतरा

शरीर में दुर्बलता, गर्भवती महिला, कब्ज, बवासीर, पेट में गैस, जोड़ों का दर्द, गठिया, ब्लडप्रेशर, स्किन की समस्या जैसे रोगों के लिए संतरा का रस परम लाभकारी होता है. इसके अलावा जिन्हें दूध नहीं पचता या दूध पर ही निर्भर रहना होता है, उन्हें तो संतरा का रस जरूर लेना चाहिए. दूध में विटामिन बी काम्प्लेक्स ना के बराबर होता है, जिसकी पूर्ति नारंगी यानी संतरा करता है.

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer