भारत में दुनिया का सबसे बड़ा चिड़ियाघर। 27.12.2020

भारत में बनने जा रहा है दुनिया का सबसे बड़ा चिड़ियाघर। इसके अलावा जानिए, देश और दुनिया की 10 POSITIVE खबरें। भारत में दुनिया का सबसे बड़ा चिड़ियाघर बनने जा रहा है. यह चिड़ियाघर कहां बनेगा, कितने क्षेत्रफल में बनाया जाएगा, कितनी लागत आएगी, कौन बनाएगा। कवर स्टोरी पर इसी खबर पर विस्तार से चर्चा करेंगे. लेकिन इससे पहले सुनते हैं देश और दुनिया की 10 पॉजिटिव खबरें.

भारत ने कोरोना काल के दौरान दुनिया के लगभग 100 देशों को 550 करोड़ रुपए के डेरी प्रोडक्ट्स एक्सपोर्ट किए हैं. इन प्रोडक्ट्स में घी, बटर, फार्म चीज़ आदि प्रोडक्ट्स हैं. अप्रैल से अगस्त के बीच का यह आंकड़ा बताता है कि भारत से सबसे ज्यादा डेरी प्रोडक्ट्स की खरीददारी UAE ने की है. UAE ;यानी संयुक्त अरब अमीरात ने भारत से ₹134 cr) की खरीदारी की है. इसके अलावा अमेरिका ने 110 करोड़, भूटान ने लगभग 80 करोड़ सिंगापुर ने 53 करोड़ और ऑस्ट्रेलिया ने 37 करोड़ रुपए के डेरी प्रोडक्ट्स भारत से ख़रीदे हैं.

केंद्र शाषित प्रदेश जम्मू एवं कश्मीर के 15 लाख परिवारों तक 5 लाख का मुफ्त बीमा केंद्र सरकार ने उपलब्ध कराने का फैसला किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष्मान भारत PM जय सेहत को बढ़ाते हुए अब जम्मू एवं कश्मीर के प्रत्येक परिवार तक पहुंचाने का एक ऐतिहासिक कदम उठाया हुआ है. इससे परिवार का कोई भी सदस्य 5 लाख रूपये तक का मुफ्त इलाज करवा सकता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि “जम्मू-कश्मीर में IIT और IIM की स्थापना की जाएगी। साथ साथ 7 नए मेडिकल कॉलेज और 15 नए नर्सिंग कॉलेज भी बनाए जाएंगे” जम्मू कश्मीर में इतना काम पहले नहीं हुआ, जितना धारा 370 हटने के बाद किया जा रहा है.

फिल्मों और कल्पना से परे एक बिहार बनकर उभर रहा है. पिछले हफ्ते नितीश कुमार बिहार के राजगीर में नेचर सफारी का मुआयना करने पहुंचे, जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुईं. दरअसल, राजगीर में तैयार हो रही नेचर सफारी नितीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट है, जहां भारत का पहला ग्लास से बना ब्रिज बनाकर तैयार किया जा रहा है. इस ब्रिज को अगले साल मार्च तक बनाकर तैयार कर लिया जाएगा। यह जमीं से २०० फुट ऊपर है, जबकि 85 फुट लम्बा है. इस ग्लास की मोटाई 45mm है और यह पूरा ट्रांसपेरेंट है. जब आप इसपर चलेंगे तो महसूस करेंगे की आप हवा में चल रहे हों.

शिरडी के साई बाबा भक्तों के लिए एक अच्छी खबर पिछले हफ्ते सामने आई है. कोरोना की वजह से जहां भक्त साईबाबा के मंदिर में 6000 जा सकते थे, वहीँ अब यह संख्या बढाकर 12,000 होने वाली है. दरअसल, मंदिर में भक्तों की भीड़ बढ़ने लगी है. कोरोना की वजह से जहां भक्त साईबाबा के मंदिर में 6000 जा सकते थे, वहीँ अब यह संख्या बढाकर 12,000 होने वाली है. दरअसल, मंदिर में भक्तों की भीड़ बढ़ने लगी है, जिसको ध्यान में रखते हुए प्रशासन अब 6000 की बजाय 12000 भक्तों को ऑनलाइन आवेदन करने की अनुमति दे सकता है.

समाचार पत्र दैनिक भास्कर की एक खबर के अनुसार, मुंबई, चेन्नई और दिल्ली जैसे मेट्रो शहरों की तुलना में भुवनेश्वर और औरंगाबाद जैसे छोटे शहर तेजी से आगे बढ़ रहे हैं. टियर-2 और टियर-3 के ये शहर नए भारत में बिजनेस हब बनकर उभर रहे हैं। भास्कर में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार फोर्ब्स की एक स्टडी कहती है कि भारत में स्टार्ट-अप ईकोसिस्टम तेजी से बदल रहा है। बड़े शहर परेशानी में हैं, जबकि छोटे शहर फल-फूल रहे हैं। कई मार्केट गुरु कहते हैं कि आने वाले दशकों में कई चमत्कार हो सकते हैं। भारत का द ग्रेट मिडिल क्लास ही यहां स्टार्ट-अप ईकोसिस्टम की ग्रोथ का इंजिन बन रहा है। यह मजबूती से अपनी भूमिका भी निभाएगा। ऐसे में अगर आप किसी छोटे शहर में रहते हैं, तो आप भी अपने यहाँ अवसर तलाश सकते हैं और अच्छी ग्रोथ कर सकते हैं. इसके लिए जरुरी नहीं की आपको मुंबई और दिल्ली आना पड़े.

अगली खबर दिल्ली वालों के लिए है. दिल्ली वालों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से नए साल का तौफा मिलने वाला है. दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 दिसंबर को दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन पर ड्राइवर लेस मेट्रो को हरी झंडी दिखाएंगे, जिसके बाद मेट्रो की मैजंटा और पिंक लाइन पर दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन की ओर से फुल्ली आटोमेटिक ड्राइवर लेस मेट्रो का संचालन शुरू कर दिया जाएगा.

मजेंटा लाइन जनकपुरी वेस्ट से बोटैनिकल गार्डन जाने वाली मेट्रोल लाइन है, जबकि पिंक लाइन मजलिस पार्क से शिव विहार तक बनाया गया कॉरिडोर है. इस मेट्रो की एक ख़ास बात ये है कि इसमें 380 यात्री एक वक़्त में सफर कर सकते हैं. जोकि वर्तमान में चल रही नॉन ड्राइवर लेस मेट्रो से ४० ज्यादा है. इस मेट्रो में ड्राइवर केबिन ना होने की वजह से यह संख्या बढ़ी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना के तहत एक बड़ी जानकारी सामने आई है. साल 2017 में शुरू की गई इस योजना के तहत देशभर में डेढ़ करोड़ लोगों ने इलाज करवाया है. यानी तीन साल के भीतर इस योजना का लाभ लेने वालों की संख्या डेढ़ करोड़ का आंकड़ा छू गई है. प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने इस योजना को शुरू करते हुए कहा था कि आयुष्मान भारत जान आरोग्य योजना दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ स्कीम है.

आखिरी खबर कोरोना से जुडी है. केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीन के ड्राई रन के लिए पंजाब के 2 जिलों लुधियाना और शहीद भगत सिंह नगर की 5-5 जगहों को चुना है. कोरोना वैक्सीन का यह ड्राई रन 28 और 29 दिसंबर को होगा. ड्राई रन के दौरान कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए बनाए गए Co-Win मोबाइल ऐप की यथास्थिति को भी देखा जाएगा जो कि वैक्सीन से जुड़े कई पहलुओं, जानकारी और जरूरी डेटा को ऑनलाइन जोड़ेगा. इसके साथ साथ पिछले हफ्ते केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना वैक्सीन को लेकर कहा है कि भारत में कोरोना का बुरा दौर अब ख़त्म हो चुका है. भारत में जनवरी से कोरोना की वैक्सीन लगनी शुरू हो जाएगी। इसकी शुरुआत 1 करोड़ हैल्थवर्कर्स और 2 करोड़ फ्रंट लाइन वर्कर्स से होगी।

For more please click this link and watch our video.

त्रिभुवन शर्मा ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के हिंदी अख़बार "सांध्य टाइम्स" के साथ साल 2013 में की थी. 4 साल अख़बार में हार्डकोर जर्नलिज्म को वक़्त देने के बाद उन्होंने Nightbulb.in को 2018 में लॉन्च किया

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer