Kiska Kata Tha Duniya Mai Sabse Pehla Chalan? | NightBulb.in-Hindi Blog

किसका कटा था दुनिया में सबसे पहला चालान? यहां जानिए

रेड लाइट, चालान, जेब्रा क्रॉसिंग या फिर ट्रैफिक पुलिस, इन सभी के बारे में आप रोजाना ही सुनते हैं। लेकिन कभी आपने सोचा है कि इनकी शुरूआत कहां से हुई होगी। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में अगर ट्रैफिक के नियम न होते तो जीवन कितना मुश्किल होता। शायद सड़क पर चला फिरना दुश्वार हो जाता।

‘ट्रैफिक’ से जुड़ी अलग अलग पहलुओं पर कब पहली बार विचार हुआ होगा। जैसे साइकिल का अविष्कार 1645 में हुआ था। हालांकि उस साइकिल में न तो ब्रैक थे, न ही पैडल। 1817 में कार्ल वॉन नाम के शख्स ने पूरी साइकिल को बनाकर तैयार किया। यह भी दिमाग में आता है कि 20वीं-21वीं सदी में सड़कों पर प्रयोग की जाने वाली हर छोटी बड़ी चीजें कब अस्तित्व में आईं होंगी। चलिए आपको बताते हैं।

  • व्हीकल से पहला रजिस्टर्ड एक्सिडेंट

1771 में पहला रोड एक्सिडेंट हुआ था। यह एक्सिडेंट पेरिस में हुआ था। इस हादसे में एक ट्रैक्टर ड्राइवर ने एक दीवार को तोड़ दिया था। वह ट्रैक्टर स्टीम से चलने वाला था।

  • पहला रजिस्टर्ड गंभीर हादसा

लंदन की ‘हारो ऑन द हिल’ पर दुनिया का पहला गंभीर हादसा हुआ था। उस वक्त इस हादसे की दुनिया भर में चर्चा हुई थी। दुनिया भर के हर एक अखबार ने इस हादसे को छापा था। यह हादसा 1899 में हुआ था। हादसे में ड्राइवर की जान चली गई थी। बताते हैं कि इस हादसे के बाद मोटर व्हीकल से जुड़े नियम और कानून बनाने की शुरूआत की गई थी।

  • पहली बार गाड़ी का नंबर

दुनिया में पहली बार गाड़ी का नंबर 1893 में फ्रांस पुलिस ने दिया था। यह एक कार का नंबर था।

  • सबसे पहला चालान

1895 में जॉन हेनरी नाम के एक शख्स का पहला चालान हुआ था। जॉन अपना तिपहिया वाहन हाईवे पर लेकर चला गया था। जॉन ने चालान की भरपाई कोर्ट में की थी। दरअसल, पुलिस ने जॉन का वाहन पहले जब्त किया और बाद में कोर्ट का चालान कर दिया था।

  • पहला मोटर कार एक्ट

एक जनवरी 1904 में दुनिया का पहला मोटर व्हीकल एक्ट बनाकर तैयार किया गया था। यह एक्ट ब्रिटेन में तैयार हुआ। एक्ट बनने के बाद ब्रिटेन की सभी कार रजिस्टर्ड हुईं और सभी गाड़ियों को नंबर प्लेट दी गई। इसके अलावा सभी ड्राइवर को ड्राइविंग लाइसेंस दिया गया। हालांकि, एक्ट में ड्राइविंग टेस्ट का कोई प्रावधान नहीं था। ड्राइविंग लाइसेंस मात्र एक फॉर्म भरने के बाद चालक को पकड़ा दिया जाता था।

  • पहली तारकोल से बनी सड़क

मिट्टी की सड़क पर तारकोल बिछाकर मजबूत सड़क बनाने का निर्माण 1902 में किया गया था। यह सड़क मोंटे कॉर्लो में बनाई गई थी। इस सड़क को बनाने का आइडिया डॉक्टर गुगलीमिंटी ने दिया था।

  • पहला पेट्रोल पंप

अमेरिका में दुनिया का पहला पेट्रोल पंप बनाया गया था। इस पंप को 1906 में बनाया था।

  • दुनिया की पहली रेड लाइट

1919 में अमेरिका के डेटरोइट शहर में दुनिया की पहली रेड लाइट लगाई गई। इसके बाद 1928 में ब्रिटेन के वॉलवरहेंपटन में रेड लाइट लगाई गई। मजेदार बात यह है कि 1932 तक ब्रिटेन की राजधानी लंदन में रेड लाइट को लगाया नहीं गया था।

  • पहली जेब्रा क्रॉसिंग

पैदल चलने वाले यात्रियों को व्हीकल के कारण परेशान होता देख ब्रिटेन में पैदल पार का अविष्कार किया गया। 1934 में पैदल पार को बनाया गया था, उस वक्त सड़क पर बिंदुओं की लाइनें बनाकर इसे बनाया जाता था। जिससे मोटर गाड़ियां रुकें और पैदल चलने वाले सड़क क्रॉस कर सकें। हालांकि, जेब्रा क्रॉसिंग का अविष्कार द्वितीय विश्व युद्ध के बाद हुआ था।

  • पहली महिला ट्रैफिक पुलिस

1964 में पहली महिला ट्रैफिक पुलिस में भर्ती हुई थी। यह महिला ट्रैफिक कंट्रोल ड्यूटी पर नियुक्त की गई थी। जबकि भारत की राजधानी दिल्ली में 1989 में पहली महिला ट्रैफिक पुलिस से जुड़ी थी।

Image Source : traffic.towernight.site

त्रिभुवन शर्मा ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के हिंदी अख़बार "सांध्य टाइम्स" के साथ साल 2013 में की थी. 4 साल अख़बार में हार्डकोर जर्नलिज्म को वक़्त देने के बाद उन्होंने Nightbulb.in को 2018 में लॉन्च किया

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer