दोबारा प्रधानमंत्री बनेंगे? जानिए मोदी के नक्षत्र

11 अप्रैल से लोकसभा चुनाव शुरू होंगे और 23 मई के दिन चुनाव परिणाम आएंगे कि देश के अगला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी होंगे कि नहीं। हम भविष्य वक्ता तो नहीं हैं, लेकिन हां नरेंद्र मोदी की कुंडली क्या कहती है, यह जरूर बता सकते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ इस बार पूरा विपक्ष खड़ा है। दरअसल, नरेंद्र मोदी जितना लोकप्रिय नेता पूरे विपक्ष में फिलहाल मौजूद नहीं है। कई जगह पार्टियां मिलकर चुनाव लड़ रही हों, तो कई जगह ऐसी हैं, जहां अकेले दम पर चुनाव जीतने की बात अन्य पार्टियां कर रही हैं। बीजेपी ने भी इस बार 40 से अधिक पार्टियों के साथ गठबंधन किया है। ऐसे में नरेंद्र मोदी की राशि और नक्षत्र क्या बयां कर रहे हैं, यह भी जानना आपके लिए बेहद जरूरी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राशि स्कोरपियन है और यह राशि चंद्रमा की महादशा से होकर गुजर रही है। कुछ ऐसे ही चंद्रमा की दशा उस वक्त भी मौजूद थी, जब नरेंद्र मोदी साल 2014 में प्रधानमंत्री बने थे। नरेंद्र मोदी की राशि में चंद्रमा के साथ मंगल भी लगन में बैठा हुआ है, जिससे मोदी की छवि आज भी बरकरार है। मंगल ही उन्हें साहस, संयम और बल देता है, ताकि वह लंबे वक्त तक काम कर पाएं। मंगल लगन के छठे घर में बैठे रहने से नरेंद्र मोदी को दुश्मनों से दूर करता है।

जैसा की हम जानते हैं साल 2019 मई में लोकसभा चुनाव का फैसला आना है। नरेंद्र मोदी की राशि यही रहती है, तो मई 2019 में नरेंद्र मोदी के करीब भी कोई पहुंच नहीं पाएगा और वह अगली बार भी देश के प्रधानमंत्री बन सकते हैं। नरेंद्र मोदी की राशि में लग्न के पहले घर में बृहस्पति विराजमान है। यह 11 अक्टूबर से 5 नवंबर 2019 तक यहीं रहेगा, जिसका लाभ नरेंद्र मोदी को लोकसभा में मिलेगा। बृहस्पति का लग्न के पहले घर में होना वृश्चिक राशि के लोगों के लिए हितकर होता है।

Astrologer : Shishir ( Vedic Astrologer, Spiritual Counselor & Motivational Guide ) 

त्रिभुवन शर्मा ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के हिंदी अख़बार "सांध्य टाइम्स" के साथ साल 2013 में की थी. 4 साल अख़बार में हार्डकोर जर्नलिज्म को वक़्त देने के बाद उन्होंने Nightbulb.in को 2018 में लॉन्च किया

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer