एक गांव, जहां नाव ही है हमसफर

हॉलैंड के एक गांव में जाने के लिए कोई सड़क मार्ग नहीं है। वहां जाने के लिए नावों का सहारा लिया जाता है। गांव में आने जाने का एक ही मुख्य साधन है नाव। लेकिन यह यहां रहने वालों और यहां आने जाने वालों के लिए परेशानी का सबब नहीं है बल्कि यह काफी खूबसूरत और मनमोहक नजारा भी पेश करता है।

डच प्रांत में ओवरीजेसल का यह गांव गेथूरन नीदरलैंड का इंटरनेशनल टूरिस्ट अट्रेक्श्न बना हुआ है। गांव के पुराने हिस्से में न कोई सड़क है न कोई वाहन। आने जाने का साधन सिर्फ नावें ही हैं। हाल ही में यहां पहली बार लोगों ने एक सड़कनुमा मार्ग देखा है जहां सिर्फ साइकिल ही चलनी शुरू हुई हैं।

गांव में हाथ और पैडल वाली नाव ही नहीं बल्कि न के बराबर घुरघुराने वाली आवाज करती इलेक्ट्रिक बोट भी दौड़ती हैं। कई नाव यहां आठ लोगों का भार उठा सकने वाली भी है। ये खासतौर पर आने जाने का साधन है और टूरिस्ट को घुमाने का भी। इलेक्ट्रिक नावों में लगी मोटर दो बैटरियों से चलती हैं। यह सात घंटे तक लगातार चल सकती हैं। इन बगैर आवाज वाली नावों से बगैर आसपास वालों को डिस्टर्ब किए नजारों के आनंद के मजे के साथ आया जाया जा सकता है।

काफी शांत प्रकृतिक इस गांव में आने वाले टूरिस्ट यहां स्वीमिंग, सेलिंग और विंड सर्फिंग का मजा ले सकते हैं। किराए पर नाव लेने के बाद गांव की सैर करते हुए कहीं पानी की भूलभुलैया में खो न जाएं इसके लिए जगह जगह दिशा निर्देश और नक्शे लगाए गए हैं, ताकि अपना रास्ता खोजने में को दिक्कत न आए।

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer