3 Cup Chai Rojana Piye, Yah Hoga Fyda | NightBulb-Hindi Blog

तीन कप चाय रोजाना पिएं, यह होगा फायदा

आमतौर पर चाय(Chai) पीने पर घर में विवाद तक हो जाता है। बढ़े-बुजुर्ग चाय पीने के शौकीन हो जाते हैं, लेकिन उनके बच्चे चाय से दूरी इसलिए बना देते हैं कि कहीं उनका स्वास्थय खराब न हो जाए। लेकिन क्या आप जानते हैं कि तीन चाय(Chai) की प्याली दिमाग को तेज रखने में मदद करती है।

जी हां, सिंगापुर में की गई एक रिसर्च में पता चला है कि तीन कप चाय रोजाना पीने से बुढ़ापे में दिमाग अलर्ट रहता है। आइए जाने कैसे-

चाय के शौकीनों के लिए चाय है नेशनल ड्रिंक

चाय(Chai) को नेशनल ड्रिंक के तौर पर जाना और माना जाता है। तकरीबन सभी को तरोताजा होने या नींद तोड़ने के लिए चाय की दरकार रहती है। लेकिन यह शायद हर एक को नहीं पता होगा कि चाय में नींद से उठाने के ही नहीं बल्कि और भी क्या क्या गुण हो सकते हैं? साइंटिस्टों का कहना है कि पारम्परिक चाय में यह गुण भी होता है कि यह बुढ़ापे में दिमाग को शार्प करती है।

1500 महिलाओं व पुरुषों पर की गई रिसर्च

एक दिन में कम से कम तीन कप चाय रोजाना पीने से दिमाग तेज होता है। खास तौर पर यह महिलाओं को बुढ़ापे में असर ज्यादा करता है।कुछ समय पहले सिंगापुर में 1500 आदमियों और महिलाओं पर रिसर्च की गई। ये सभी दिन में चार कप से अधिक चाय पीते थे। जांच में पता चला कि इनमें से तीन चौथाई में मेमरी कम गिरी पाई गई यानी उनका दिमाग अन्य महिलाओं की तुलना में तेज चल रहा था। एक से तीन कप साइलन चाय के कप पीने वाले 43 फीसदी लोगों में मेमरी में गिरावट की बाधा कम पाई गई। इससे यह पता चलता है कि चाय में पाए जाने वाले तत्व दिमाग में अल्जाइमर बनाने वाले जहरीले तत्व से लड़ने में सक्षम है। इस जहरीले तत्व से लड़ने वाला थीनाइन सिर्फ चाय की पत्तियों या मशरूम में ही पाया जाता है।

अमेरिका में भी हो चुकी हैं कई बार रिसर्च

अमेरिका के एक्सपर्टों ने कई बार दिमाग के अलर्ट और मेमरी पर कैफिएनेटिड ड्रिंक का क्या असर पड़ता है पर रिसर्च की है। इस रिसर्च पर हजारों आदमियों और औरतों ने चाय(Chai) या कॉफी पीकर दिमाग और मेमरी पर क्या असर पड़ता है अपने टेस्ट करवाए। दस साल की रिसर्च और टेस्ट से कई परिणाम भी सामने आए। रिसर्च में यह भी पता चला है कि जिन लोगों ने चाय पी थी उनका दिमाग शार्प पाया गया।

 

Image source : www.bnbteahousekigali.com

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer