Paharo Ke Mahul Mai | NightBulb.in-Hindi Poem, Poetry

पहाड़ों के माहौल में…

पहाड़ों के माहौल में
ठंडी हवाओ के बीच
खुलती है मेरी वही किताब
जिसमें लिखी है तुझसे जुड़ी हर एक चीज़

ठंडे पानी में पैर डालकर
हर एक पन्ने पर घंटो बिता देता हूँ
महसूस करता हूँ तुझे और चलती नदी में
ना रुकने वाले आँसुओ को टपका देता हूँ

दिल में आती है कि बस यहीं ठहर जाए ज़िंदगी
फिर जागती है तुझे देखने की ललक और बाक़ी बचे पन्नों को पढ़ना शुरू कर देता हूँ

 

Image Source : www.tonibologna.com

त्रिभुवन शर्मा ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के हिंदी अख़बार "सांध्य टाइम्स" के साथ साल 2013 में की थी. 4 साल अख़बार में हार्डकोर जर्नलिज्म को वक़्त देने के बाद उन्होंने Nightbulb.in को 2018 में लॉन्च किया

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer