Jab Free mai Nanda Ne Ki Manoj Ki Film I Night Bulb-Hindi Flashback

जब फ्री में नंदा ने की मनोज की फिल्म

गीत संगीत, फिल्म और फिल्मों की कहानी-किस्सों से जुड़े समाचार लाइव के इस सेक्शन में आपका फिर से स्वागत है. आज हम आपको जिनके बारे में बताने जा रहे हैं. उन्होंने अपने जीवन की बतौर लीडिंग एक्ट्रेस पहली फिल्म बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार देवानंद साहब से की थी. उनकी पहली फिल्म थी “हम दोनों”.

अगर आपने ये फिल्म देखी होगी या इस फिल्म के गाने सुने होंगे तो आप उस एक्ट्रेस को पहचान गए होंगे.

जी हां, हम बात कर रहे हैं. बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस नंदा की. वैसे तो उन्होंने बतौर चाइल्ड एक्टर कई रोल निभाएं हैं, लेकिन उनकी पहली फिल्म एक लीडिंग एक्ट्रेस के तौर पर हम दोनों थी. इस फिल्म का एक गाना बेहद मशहूर है, जिसे आज भी लोग सुनते हैं, तो खुद बी खुद गुनगुनाने लगते हैं.

किस्से कहानियां तो कई होती हैं, लेकिन हर कलाकार का किस्सा ऐसा जरूर होता है, जो उन्हें तो याद रहता ही है, लेकिन उनके चाहने वालों में घर कर जाता है. नंदा को खुद से बड़ी हस्ती मानने वाले बॉलीवुड स्टार मनोज कुमार जी को भीनंदा से जुड़ा एक किस्सा काफी समय तक याद रहा. दरअसल, मनोज कुमार और नंदा की बेहद चर्चित फिल्म थी ‘शोर’। यह फिल्म परदे पर काफी हिट हुई थी.

मनोज कुमार बताते हैं कि इस फिल्म के लिए पहले वह शर्मिला टैगोर को लेने वाले थे लेकिन बात नहीं बन पाई। फिर मनोज कुमार ने स्मिता पाटिल के पास इस किरदार को करने के लिए प्रस्ताव भेजा, लेकिन उन्होंने भी मना कर दिया।

ऐसे में एक दिन वो परेशान बैठे हुए थे कि उनकी पत्नी शशि ने कहा कि आप नंदा को क्यों नहीं लेते? तो मनोज कुमार ने कहा कि अच्छा नहीं लगता, वो इतनी बड़ी स्टार हैं और जिस काम को औरों ने मना किया हो वो उसे क्यों करेंगी?

आगे मनोज कुमार बताते हैं कि फिर अपनी पत्नी के बार बार कहने पर उन्हें फोन किया और नंदा जी से फिल्म के बारे में बात हुई. नंदा जी ने पूरी बात सुनने के बाद मुझे अपने घर बुलाया और कहा कि मैं एक शर्त पर आपकी ये फिल्म करूंगी और वह शर्त ये है कि मैं इस फ़िल्म के लिए आपसे एक रुपया नहीं लूंगी।

मनोज कुमार कहते हैं: किसी के एहसान का बदला आप नहीं चुका सकते लेकिन फिर भी मैंने हर कोशिश की थी कि नंदा जी का एहसान उतार सकूं। लेकिन मैं ऐसा नहीं कर पाया…..!

इस किस्से को अपने शब्दों से संजोया है, समाचार लाइव के पत्रकार दिनेश सिंह ने और आप सुन रहे थे त्रिभुवन शर्मा को.

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer