सरकारी नौकरी में अच्छा वेतन चाहते हैं, यह खबर जरूर पढ़ें

अगर आप सरकारी नौकरी करने के सपने देखते हैं और चाहते हैं कि कमाई भी अच्छी हो, तो यह खबर आपके लिए बेहद काम की है। इस खबर में आज हम आपको देश की उन 10 नौकरियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां कर्मचारी या फिर कहें सर्विसमैन को बाकी सरकारी विभागों की तुलना में अच्छी इनकम के साथ- साथ बहुत कुछ सरकार से मिलता है।

आइए जानते हैं कौन सी हैं वे नौकरियां

इंडियन सिविल सर्विस (Indian Civil Service)

इंडियन सिविल सर्विस में काम सबसे ज्यादा जिम्मेदारी वाला होता है। IAS, IPS जैसे पद इसी श्रेणी में होते हैं। इस नौकरी में आपको हर महीने कम से कम 2 लाख रुपये सैलरी मिलेगी। साथ ही रहने के लिए घर, गाड़ी, ड्राइवर, विदेशी ट्रिप जैसी लग्जरी सुविधाएं भी मिलेंगी। इसके अलावा इस पद पर कई एलाउंस भी दिए जाते हैं।

डिफेंस सर्विस (Defense Service)

जल सेना, थल सेना और वायु सेना के अंतर्गत काम करने वाले जवानों से लेकर कर्मचारी डिफेंस सर्विस का हिस्सा होते हैं। इस सर्विस तक पहुंचने के लिए आपको एनडीए, सीडीएस, एसएसबी जैसी परिक्षाएं देनी होती हैं। इसके अंतर्गत आपको पद के अनुसार सैलरी मिलती है। हालांकि, बेसिक सैलरी 50 हजार से 1 लाख के बीच होती है। इसके अलावा इस श्रेणी में प्रमोशन बेहद जल्दी होते हैं, साथ ही सरकार की ओर से एलाउंस भी दिए जाते हैं।

पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग (Public Sector Undertaking)

अगर आप प्राइवेट नौकरी में दिलचस्पी नहीं रखते, तो भी सरकार का पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग आपके लिए अच्छा ऑप्शन रहेगा। पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग के अंतर्गत बीएचईएल, ओएनजीसी, इंडियन ऑयल जैसे बड़े विभाग आते हैं। इसमें नौकरी पाने के लिए आपको गेट की परिक्षा देनी होती है, जिसके बाद आपको पद के अनुसार 50 से डेढ़ लाख रुपये बेसिक सैलरी मिल जाती है। इसके अलावा आपको पेट्रोल एलाउंस, कैंटीन आदि में सब्सिडी भी दी जाती है।

बैंकिंग (Govt. Bank)

बैंकिंग सेक्टर युवाओं का सबसे पसंदीदा सेक्टर माना जाता है। हो भी क्यूं ना, इस सेक्टर में 18 से 20 लाख रुपये सालाना पैेकेज तक मिल जाता है। इसके अलावा बैंक की ओर से घर, विदेश में घूमने के लिए हर दो साल में एक लाख रुपये और आसान किस्तों में लोन जैसी सुविधाएं भी होती हैं। यानी बैंक में काम करने वाले कर्मचारी की जिंदगी एक शहनशाह से कम नहीं होती। इसके अलावा आपके बच्चों के लिए एजूकेशन एलाउंस तक बैंक मुहैया कराता है।

वैज्ञानिक (Scientist)

देश का एक रत्न वैज्ञानिक भी कहे जाते हैं। ईसरो, डीआरडीओ में काम करने वाले वैज्ञानिकों का सरकार खासा ध्यान रखती है। 80 हजार रुपये तक बेसिक सैलरी के साथ- साथ 10 हजार रुपये मासिक ट्रांसपोर्ट एलाउंस, रहने के लिए घर, हर छह महीने में प्रमोशन जैसी सुविधाएं भी सरकार देती है।

युनिवर्सिटी प्रोफेसर (University Professor)

बैंकिंग के अलावा दूसरा सबसे दिलचस्प सेक्टर एजूकेशन माना जाता है। दरअसल, आधे से भी कम दिन की मेहनत में आप काफी अच्छी सैलरी हासिल कर लेते हैं। आईआईटी, एनआईटी को पढ़ाने वाले प्रोफेसर की सैलरी 2 लाख रुपये प्रतिमाह तक होती है। अगर प्रोफेसर साहब पीएचडी हैं, तो उन्हें एक लाख रुपये तक मिल जाते हैं। मैडिकल और हाउस एलाउंस अलग से मिलता है।

सरकारी डॉक्टर (Govt. Doctor)

सरकारी डॉक्टर यानी पैसा ही पैसा। सरकार आजकल डॉक्टरों के वेतन पर अच्छा खर्च करती है। ग्रामीण इलाकों में काम करने वाले सरकारी डॉक्टरों को 25 से 30 पर्सेंट अधिक दिया जाता है। एक सर्जन की सैलरी 1 से 2 लाख रुपये होती है। जबकि एक जूनियर डॉक्टर की सैलरी 40 से 50 हजार के बीच होती है।

इनकम टैक्स ऑफिसर (Income Tax Officer)

इनकम टैक्स ऑफिसर पद भी सम्मानिय है। यूपीएससी पास करने के बाद आपकी नौकरी सीधा कमिश्नर के पद के लिए लगती है। ऑफिसर लेवल पर यहां एक लाख रुपये तक मिल जाते हैं। इसके अलावा कार, 30 लीटर पैट्रोल आदि भी मिलता है।

रेलवे इंजीनियर (Railway Engineer)

सरकारी नौकरियों में इंजीनियर की सैलरी सबसे अधिक रेलवे में होती है। रेलवे में एक इंजीनियर को 80 हजार रुपये तक मिलते हैं। इसके अलावा ट्रेवल, रहने के लिए घर, मेडिकल सुविधा के अलावा कई तरह के एलाउंस भी दिए जाते हैं।

असिसटेंट इन मिनिस्ट्री ऑफ एक्सर्टनल अफेयर (Assistant in Ministry of External Affairs)

यहां नौकरी करना स्वर्ग जैसा है। एक्सर्टनल अफेयर में एक असिसटेंट को ज्यादातर नौकरी विदेश में करनी होती है। उसको 2 लाख रुपये प्रतिमाह के अलावा अलग से 50 हजार रुपये अलग से दिए जाते हैं। 30 से 50 हजार रुपये देश के अनुसार दिए जाते हैं, ताकि अलग देश की करेंसी के अनुसार असिसटेंट आसानी से रह सके।

 

 

 

त्रिभुवन शर्मा ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के हिंदी अख़बार "सांध्य टाइम्स" के साथ साल 2013 में की थी. 4 साल अख़बार में हार्डकोर जर्नलिज्म को वक़्त देने के बाद उन्होंने Nightbulb.in को 2018 में लॉन्च किया

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer