Bawariyo Mai Bawri 'Agresen Ki Bawri' | NightBulb.in-Hindi Bolg

पानी भी एक दवा है- जानिए क्या हैं इसके चमत्कार

कहा जाता है कि पानी नींद भगाने का काम करता है। बात बिल्कुल ठीक है, लेकिन पानी नींद लाने का भी काम करता है। आज हम आपको पानी को एक दवाई के तौर पर इस्तेमाल करने के तरीके बताएंगे। पानी खुद अपने आप में एक दवा है। पानी को सही वक्त पर सही तरीके से प्रयोग किया जाए, तो कई जगह आपको डॉक्टर या क्लीनिक का मूंह नहीं देखना पड़ेगा।

हमारे शास्त्रों में भी लिखा है – अजीर्णे भेषजं वारि जीर्णे बारि बलप्रदम यानी पानी दवा का काम करता है और खाना खाने के बाद पानी पीने से शरीर में बल होता है। पानी में कई ऐसे गुण हैं, जो सिर्फ प्यास भुजाने के नहीं लिए, बल्कि आपके उपचार में कई तरीकों से उपयोग में लाई जाती हैं। आइए बताते हैं आपको पानी के प्रयोग से होने वाले कुछ उपचार

  • यदि आपको रात में नींद नहीं आती हो तो सोने के पहले आप दोनों पैरों को घुटनों तक सहने लायक गरम पानी से भरी बाल्टी या टब में 15 मिनट तक डुबा कर रखें। 15 मिनट बाद पैरों को निकालें और साफ कपड़े से पौछ लें। आपको नींद जरूर आएगी। ध्यान रहे पानी में पैर डुबाते वक्त सिर पर ठंडे पानी में भिगोया हुआ और निचुड़ा हुआ तौलिया जरूर रख लें।
  • अगर आपको इंजेक्शन लगने के बाद सूजन हो जाती है या दर्द बढ़ जाता है, तो आप ठंडे पानी की पट्टी या बर्फ जरूर लगाएं। गरम पानी का प्रयोग बिल्कुल न करें। ठंडे पानी से सूजन न सिर्फ कम होगी, बल्कि दर्द भी खत्म हो जाएगा।
  • जैसा की हम जानते हैं कि हमारा 75 पर्सेंट शरीर पानी का बना है। यही वजह है कि पानी की कमी होने पर बच्चों को पतले दस्त या डायरियजा जैसी समस्या हो जाती है। ऐसे में आप बच्चे को नमकीन पानी का घोल बनाकर पिलाएं। पानी की कमी इससे न सिर्फ दूर होगी, बल्कि बच्चे का दस्त, उल्टी आदि होने पर घर बैठे इलाज भी कराया जा सकता है।
  • ऐसे ही अगर आपके शरीर के किसी भी पार्ट यानी अंग पर चोट या मोच आती है, तो डिटॉल आदि की बजाय सबसे पहले उसे खूब ठंडे पानी की पट्टी लगाएं या बर्फ भी लगा सकते हैं। इससे न तो सूजन होगी और न ही दर्द बढ़ेगा। गरम पानी की पट्टी बिल्कुल न लगाएं। इसका ठीक उल्टा असर पड़ेगा। सूजन भी आएगी और दर्द भी बढ़ेगा।
  • गरम पानी का प्रयोग आप जोड़ों के दर्द, गठिया, कंधे की जकड़, घुटने का दर्द, कमर का दर्द आदि में कर सकते हैं। ऐसे वक्त में आप गरम पानी का सेक करके इन दर्द में आराम पा सकते हैं।
  • यदि कोई शख्स जल जाता है, तो घबराए नहीं। पानी जलने में काफी उपयोगी होता है। जलने या झुलसने पर आप शरीर के उस अंग को तुरंत ठंडे पानी में डाल दें। इससे जलन दूर होगी और घाव या फफोले नहीं होंगे।
  • अगर पूरा शरीर जल जाता है, तो उस शख्स को तालाब या उसे नहाने वाले पानी के टब में डूबा दें। नाक से सांस लेने का जरूर ध्यान रखें। यह ध्यान जरूर रखें कि जला हुआ शख्स दो घंटे तक पानी में रहना चाहिए। पानी की छिड़काव न करें। अगर आप अस्पताल लेने में वक्त बर्बाद करते हैं, तो उस शख्स के घाव और फफोले हो सकते हैं। ठंडा पानी जले हुए शख्स पर चमत्कार का काम करता है।

Image source : www.ox.ac.uk.com

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer