Jalti Hai Tavi Jalate Hai | NIghtBulb.in-Hindi Blog-Hindi Poem

जलती है तभी जलाते हैं

जलती है तभी जलाते हैं
इतने बड़े विद्वान को सम्मान नहीं
राक्षस कहकर ठुकराते हैं


अरे माना कि उसने एक महिला का हरण किया था
लेकिन कलयुग के अत्याचार से तो कम किया था 


वो था ज्ञानी वो था स्वाभिमानी
उसमें थी कुछ बात जो तुमने नहीं मानी 


अरे ज़रा उसके एक गुण को उठाकर तो देखो
कलयुग में रावण को अपना कर तो देखो

त्रिभुवन शर्मा ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के हिंदी अख़बार "सांध्य टाइम्स" के साथ साल 2013 में की थी. 4 साल अख़बार में हार्डकोर जर्नलिज्म को वक़्त देने के बाद उन्होंने Nightbulb.in को 2018 में लॉन्च किया

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer