बेटी को बंधक बनाया, मां को धारदार हथियार से मार दिया. कारपेंटर गुलफाम गिरफ्तार || Uttar Pradesh News

उत्तरप्रदेश के गोमतीनगर के विश्वास खंड इलाके में गुलफाम नाम के हत्यारे ने ऐसा अपराध किया है, जिसे आप सुनेंगे तो गुलफाम जैसे हर एक कारीगर पर शक करने लग जाएंगे या ऐसे कारीगरों से अपने घर में काम करवाने से पहले 100 बार सोचेंगे. क्यूंकि ऐसी घटना आम भोले भाले लोगों के मन में घर कर जाती है.]

दरअसल, हुआ यह है कि गुलफाम नाम का कारपेंटर ढाई महीने भर से एक व्यापारी के घर में फर्नीचर बनाने का काम कर रहा था. ढाई महीने का मतलब साफ है कि उसे खर्च पानी के लिए बराबर पैसे मिल रहे थे. लेकिन एक दिन उसके दिमाग पर ना जाने कौन सा भूत सवार होता है, जो वो विश्वास खंड के 1 बटा 39 में रहने वाले व्यापारी डॉ हर्ष अग्रवाल की पत्नी रुचि अग्रवाल को एक बार में पैसे न देने पर जान से मार देता है. वह पहले रुचि के बैडरूम में जाता है, जहां रुचि उसका विरोध करती है और पैसे बाद में देने की बात कर रहती है. बस इसी बात पर पहले वो रुचि की बेटी वामिका को बंधक बनाकर गले पर हथियार रख देता है. रुचि जैसे तैसे करके वामिका को तो गुलफाम से बचा लेती है, जिसके बाद रुचि की दो बेटिया वामिका और प्रयांशी घर के एक कमरें में खुद को बंद कर देते हैं. लेकिन गुलफाम रुचि पर धारदार हथियार से हमला कर देता है. जिस वक्त से यह घटना हुई, उस वक्त घर में रुचि की दो बेटी वामिका और प्रयांशी, नौकर नंदलाल और गुलफाम का हेल्पर मौजूद थे.

दैनिक समाचार पत्र दैनिक जागरण की खबर के अनुसार, रुचि के पति डॉ हर्ष अग्रवाल एक बिजनेसमैन हैं और उन्होंने चार महीन पहले ही अपना घर शिफ्ट किया था. वो अपने घर के लिए फर्नीचर बनवा रहे थे. गुलफाम को उन्होंने ठेकेदार कमरुद्दीन की मदद से काम पर रखा था.

रुचि जिस वक्त डॉ हर्ष से बात कर रही थीं, उसी वक्त गुलफाम ने रुचि पर हमला कर दिया. फोन कटा नहीं था और रुचि की चींख हर्ष को सुनाई दे रही थी. हर्ष ने तुरंत अपने परिवार के सदस्यों को घर पहुंचने के लिए कहा, साथ ही खुद भी आफिस से निकल गए.

आरोपित ने रुचि के चेहरे,सीने और पेट पर कई वार किए और रुचि को लहुलुहान छोड़कर घर के पहले मालें पर हथियार के साथ चला गया, जहां गुलफाम का हेल्पर और नौकर नंदलाल थे. दोनों ने गुलफाम के हाथ में खून से रंगा हथियार देखा तो वो दोनों भाग खड़े हुए. परिवार के लोग और पुलिस जब तक घर पहुंचती तब तक गुलफाम भाग चुका था. घरवालों ने रुचि को लोहिया हास्पिटल भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने रुचि को मृत घोषित कर दिया।

रिपोर्ट के अनुसार, घर में डॉगी भी था, जिसे रुचि की आवाज सुनने के बाद मालकिन को गुलफाम से बचाने के लिए गुलफाम पर हमला बोला, लेकिन गुलफाम ने डॉगी पर भी हथियार से कई वार कर दिए और डॉगी को भी घायल कर दिया. वैसे तो गुलफाम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन इस मामले के बाद से रुचि की दोनों बच्चियां सदमे मे हैं. पुलिस को अभी तक गुलफाम का हथियार बरामद नहीं हुआ है.

https://www.jagran.com/uttar-pradesh/lucknow-city-businessman-wife-murdered-in-lucknow-21514226.html

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Site Footer